स्वागत

ब्लाग पर आने पाठकों के विचारों एवं सुझावों का स्वागत है.
"अयं निज : परोवेति गणना लघु चेतसाम् । उदार चरितानां तु वसुधैव कुटुम्बकम॥"

06 मई 2010

युवा लडकी






















युवा लड़की भी चाहती है
तितलियों की तरह उडना
कोयल की तरह कूकना
झरने की तरह बहना
पर
घर से गंतव्य तक नजरे झुकाए
रास्ते पर चलती है युवा लड़की
नेत्र रहकर भी
नेत्रहीन हो जाती है,युवा लड़की.

सूनसान रास्तों पर
अकेले नहीं जा सकती युवा लड़की
पदयुक्त होकर भी
पदहीन हो जाती है, युवा लड़की

अपनी आकांक्षाओं का दमन कर
अजनबी से तय किए रिस्ते
स्वीकार करती है युवा लड़की
मुख रहते भी
मुखहीन हो जाती है,युवा लड़की.

युवा लड़की भी चाहती है
गर्व करने युवा होने का
युवा लड़की को खेद होता है
अपने युवा होने पर
क्योंकि
कथित मर्यादाओं के
अमर्यादित आक्रमण का शिकार होती है युवा लड़की
फूल सी होकर भी समाज के लिए
भार होती है युवा लड़की
सपने देखने की उम्र में भी
यथार्थ का सामना करती है,युवा लड़की.


13 टिप्‍पणियां:

  1. एक युवा लडकी का सच ....सुन्दर अभिव्यक्ति

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर और सार्थक कविता..... भावाभियक्ति बहुत अच्छी लगी.....

    उत्तर देंहटाएं
  3. सार्थक और बेहद खूबसूरत,प्रभावी,उम्दा रचना है..शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  4. ek jwalant kavita likhi...ladkiyon par kya kya gujarti hai ye ham samajh bhi nahi sakte...

    उत्तर देंहटाएं
  5. आज आवश्यकता उन मूलभूत सिद्धांतो के
    पुनर्विश्लेषण - पुनर्व्याख्या की है. भ्रम और विभ्रम की,
    यह दुरावस्था सशक्तिकरण और नारी मुक्ति आन्दोलन के
    नाम पर, कहीं बन न जाये सामजिक कलह का कारण?
    टूटते दांपत्य और बढ़ते तलाक पर, क्या आन्दोलन ध्यान देगा?

    न जाने क्यों मन सशंकित है, कहीं बन न जाये भावी पीढ़ी ...
    बलि का बकरा? अथवा खड़ा न हो जाये , प्रतिक्रियावाद का खतरा?
    क्योकि जिस अस्तित्ववादी विचारधारा के पीछे यह आन्दोलन भाग रहा,
    वह हमारी संस्कृति, हमारी सभ्यता, हमारे विवाह संस्कार को नकार रहा.
    नहीं होंगे विवाह भावी पीढ़ी कहाँ से आएगी?
    बिन विवाह सामाजिक रिश्ते क्या टिक पायेंगे?
    और बिन रिश्ते हम कहाँ जायेंगे?

    उत्तर देंहटाएं
  6. हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

    मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

    यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

    शुभकामनाएं !


    "टेक टब" - ( आओ सीखें ब्लॉग बनाना, सजाना और ब्लॉग से कमाना )

    उत्तर देंहटाएं
  7. मार्मिक प्रस्तुति - उच्चस्तरीय रचना

    उत्तर देंहटाएं
  8. bahut sundar, yah dekh kar accha laga ki apne chhattisgarh ke ek kone se, chhote se gaon se bhi itna accha blog aaya hai blogjagat me, isliye agrawal saheb aap badhai ke patra hai, meri shubhkamnayein swikar karein saheb...

    उत्तर देंहटाएं
  9. हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए हमारी शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  10. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ हमें उत्साह और प्रेरणा प्रदान करती हैं .आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है.(सच तो यह है कि टिप्पणी प्रेमी/प्रेमिका की तरह है, जब भी दीदार हो, अच्छा लगता है.)